नार्मल शुगर लेवल चार्ट उम्र के अनुसार

नार्मल शुगर लेवल चार्ट उम्र के अनुसार |

शुगर लेवल और इसके महत्व

शुगर लेवल एक व्यक्ति के रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को दर्शाता है। यह मात्रा आपके स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है और इसे सामान्य रूप से खेताबली लेवल में बनाए रखना अच्छा होता है। शुगर लेवल का महत्व यह है कि जब यह अधिक होता है, तो यह विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है।

अगर आपके रक्त में अधिक शुगर होता है, तो यह बहुत कई समस्याओं जैसे शरीर को इंजेक्शन से इंसुलिन देना पड़ सकता है जो अत्यधिक खर्चणी का कारण बनता है। खासकर डायबिटीज जैसी बीमारियों में सहायक होता है कि यह लेवल सामान्य हो।

खासकर, हमेशा अपने शुगर लेवल की जांच कराना और स्वस्थ जीवनशैली अपनाना जैसे योग और आरोग्यपूर्ण आहार का सेवन करना चाहिए। इससे आपका शरीर स्वस्थ रहेगा और आप बीमारियों से बच सकते हैं।

नॉर्मल शुगर लेवल कितना होना चाहिए

जब आप शुगर लेवल की चिंता करते हैं, तो एक महत्वपूर्ण मापन होता है - फास्टिंग ब्लड शुगर लेवल. यह उस समय का स्तर है जब आप खाली पेट होते हैं, और शरीर में ग्लूकोज का स्तर मापा जाता है। नॉर्मल फास्टिंग ब्लड शुगर लेवल की स्थिति आपके स्वास्थ्य की अवस्था का पता लगाने में मदद कर सकती है।

इस स्तर को जांचने के लिए, फास्टिंग ब्लड शुगर लेवल को वाल्यू एक्सप्रेशन से 8 घंटे से भी अधिक तक का समय खाली पेट रखना होता है। सामान्य रूप से, नॉर्मल शुगर लेवल 70 से 100 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर के बीच होता है। यदि आपका खाली पेट शुगर लेवल 100 से अधिक है, तो इसे 'प्री-डायबिटिक' माना जा सकता है।

खाली पेट शुगर लेवल का नियमित आपके लिए ध्यान रखना जरूरी है, क्योंकि इससे आपके स्वास्थ्य की जानकारी मिलती है। इसलिए, अगर आपका शुगर लेवल इस रेंज में है, तो स्वस्थ जीवनशैली अपनाना और डॉक्टर से परामर्श लेना महत्वपूर्ण है।

शुगर लेवल उम्र के अनुसार

 


भोजन से पहले (उपवास)

खाने के बाद

बच्चे और किशोर

90–130 mg/dL

 

वयस्क

80–130 mg/dL

< 180 mg/dL (1 या 2 घंटे बाद)

गर्भवती

70–95 mg/dL

110–140 mg/dL (1 घंटे बाद); 100–120 mg/dL (2 घंटे बाद)

65 वर्ष और उससे अधिक उम्र के

80–180 mg/dL

 

बिना मधुमेह के

99 mg/dL या उससे कम

140 mg/dL

जब हम अपने शरीर के शुगर लेवल की बात करते हैं, तो यह उम्र के अनुसार भिन्न होते हैं। एक व्यक्ति के लिए नॉर्मल शुगर लेवल दूसरे से भिन्न हो सकता है और इसमें ये सवाल आता है कि हमारे शुगर लेवल कितने होने चाहिए।

शुगर लेवल नॉर्मल रेंज में रहना अत्यंत महत्वपूर्ण है। स्वस्थ व्यक्ति के शुगर लेवल की स्थिति अच्छी रहने से उन्हें अन्य बीमारियों का सामना करने में आसानी होती है। यदि आपका शुगर लेवल स्वस्थ रेंज से बाहर जाता है, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

नॉर्मल शुगर लेवल का मापन कई प्रकार से किया जा सकता है, जैसे कि फास्टिंग ब्लड शुगर लेवल और खाली पेट शुगर का स्तर। इन मापदंडों के माध्यम से हम अपने शुगर लेवल को नियंत्रित रख सकते हैं और समय-समय पर उचित इलाज लेकर अपने स्वास्थ्य की निगरानी कर सकते हैं।

शुगर नियंत्रण करने के उपाय

खतरनाक शुगर लेवल से बचाव और शुगर को नियंत्रित करने के लिए, सही आहार और व्यायाम का महत्वपूर्ण है। उचित उपायों के माध्यम से हम शुगर लेवल को संतुलित रख सकते हैं।

आहार में फल, सब्जियां, अनाज, दालें और प्रोटीन शामिल करना जरूरी है। मिठाइयों और प्रोसेस्ड फूड्स की बजाय घर की बनी हेल्दी चीजें खानी चाहिए।

नियमित व्यायाम करना भी शुगर लेवल को संतुलित रखने में मददगार होता है। दिन में कुछ समय व्यायाम करना और योग अभ्यास करना शुगर को नियंत्रित करने में सहायक होता है।

शुगर लेवल को नियंत्रित रखने के लिए, हमें तलाहट से दूर रहना चाहिए। तलाहट से बचने के लिए प्रकृति से बनी चाय, नींबू पानी, और पानी अच्छे विकल्प हो सकते हैं।

अगर हम उपरोक्त उपायों का पालन करेंगे, तो हमारे शरीर का शुगर लेवल संतुलित और स्वस्थ रहेगा। इससे शारीरिक समस्याओं की संभावना कम हो जाती है और हम जीवन का अच्छा मजा ले सकते हैं।

सारांश

शुगर लेवल चार्ट एक महत्वपूर्ण उपकरण है जो हमें हमारे शरीर में ग्लूकोज के सही स्तर के बारे में जागरूक करता है। यह चार्ट हमें यह बताता है कि किस स्तर पर शुगर की मात्रा नॉर्मल होती है। उम्र के अनुसार इस स्तर में कमी या अधिकता के संकेत हो सकते हैं।

नियमित रूप से अपने शुगर लेवल चार्ट को जांचकर अपने आहार और व्यायाम को अनुकूलित करना बहुत उपयोगी हो सकता है। फास्टिंग ब्लड शुगर लेवल और खाली पेट शुगर की गणना करने में यह चार्ट महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

शुगर लेवल को नियंत्रित रखने के लिए उचित जानकारी और उपायों का पालन करना आवश्यक है। उचित आहार, नियमित व्यायाम और नियमित चेकअप से आप अपने शुगर लेवल को संतुलित रख सकते हैं।

इस प्रकार, शुगर लेवल चार्ट हमें अपने शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मददगार साबित हो सकता है और हमें स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के लिए प्रेरित कर सकता है।

Back to blog